एंड्राइड 8.0 ओरियो बदल कर रख देगा आपके स्मार्टफोन की तस्वीर, जाने कैसे

0
169
views

गूगल ने अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्राइड 8.0 ओरियो के नाम की घोषणा कर दी है. वही इस एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के बहुत सरे लीक्स और अफवाहों के बाद गूगल ने इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम “ओरियो” पर मुहर लगा दी है. इस ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ यूजर को बहुत सरे फायदे होने वाले है, जिसमे सामिल है बहुत से नये और खास फीचर. जिनकी वजह से बहुत कूल यूजर इंटरफ़ेस देखने को मिलेगा और साथ ही बहुत से कस्टमाइज फीचर भी मिलेंगे. वही यह ऑपरेटिंग सिस्टम थीम इंजन बेस्ड होगा जिसकी वजह से आप आसानी से नयी थीम को ट्राई कर सकते है.

Article Contents

“इंस्टाल फ्रॉम अननोन सोर्स” फीचर को हटा दिया

जैसे पहले जब हम शेयरइट से एप किसी दुसरे फ़ोन से लेते थे या फिर किसी वेबसाइट से डाउनलोड करते थे. उसको इनस्टॉल करने के लिए हमे सेटिंग्स में “इंस्टाल फ्रॉम अननोन सोर्स” को इनेबल करना पड़ता था. लेकिन अब इस फीचर को हटा दिया गया है. वही उसकी जगह एंड्राइड ओरियो में इनस्टॉल अदर एप्स का नया आप्शन दिया गया है. जिसमे एप को इनस्टॉल करने के लिए हमे मैन्युअली परमिशन देनी पड़ेगी.

ऑटोफिल एपीआई फ्रेमवर्क

हमे अपने सभी एकाउंट्स के पासवर्ड को कठिन बनाने की सलाह दी जाती है साथ ही यह भी कहा जाता है की वह हर अकाउंट के साथ अलग अलग हो. बहुत से यूजर पासवर्ड मेनेजर जैसे एप्स का इस्तेमाल करते पर उसमे भी डाटा सेफ्टी का खतरा रहता है. वही कुछ एप्स में औटोफिल का आप्शन नहीं होता तो कुछ को एडवांस परमिशन देनी पड़ती है. इसी लिए एंड्राइड ओरियो में आपको औटोफिल का आप्शन मिलेगा जिसमे आप गूगल क्रोम की तरह ही अपने पासवर्ड को सेव कर पाएंगे.

पिक्चर – इन – पिक्चर

यह फीचर एंड्राइड ओरियो के बड़े फीचर में से एक है. जिसकी वजह से आप विडियो को देखते वक़्त भी किसी एप को खोल सकते है वही ऐसा youtube के साथ भी संभव हो सकेगा. इस नए फीचर से अगर आप कही विडियो यह किसी साईट पर विडियो प्ले कर रहे है और आपको कोई दूसरी एप खोलनी है. तो इसके लिए आपकी विडियो बंद नहीं होगी वह सीधे राईट कार्नर में मूव हो जाएगी और आप दुसरे एप में अपने सभी काम कर पाएंगे.

एंड्राइड इंस्टेंट एप

इस फीचर से आपको किसी भी इंस्टेंट एप डाउनलोड करने की जरुरत नहीं होगी, पर यह सब एप्स पर लगो नहीं होता. इसकी मदद से आप किसी भी सोशल एप को डायरेक्ट लिंक से एक्सेस कर सकते है. वही यह फीचर उनके लिए ज्यादा फायदेमेंद साबित होगा, जिनके फोन की मेमोरी हमेशा लो रहती है.

बैटरी सेविंग लिमिट्स

बैटरी ड्रैनिंग एंड्राइड का एक बड़ा इशू है क्यूंकि बहुत सी फालतू एप्स का बैकग्राउंड में रन करती रहती है. जिसकी वजह से नए आपके फ़ोन की बैटरी अपने आप ख़त्म हो जाती है. इसी के लिए गूगल एंड्राइड टीम ने इसका सलूशन निकला है. जिसका नाम बैकग्राउंड बैटरी लिमिट रखा गया है. इस फीचर के साथ आप अपने फ़ोन में एप्स को बैकग्राउंड रन टाइम को कण्ट्रोल कर सकते है. वही इससे बैटरी की काफी बचत होगी.

उम्मीद करते है जानकारी पसंद आई होगी . आप हमे फेसबुक, ट्विटर, और YouTube पर फॉलो कर सकते है.