What is SEO – Search Engine Optimization? | SEO 2018 Hindi

3
244
views
what is seo

SEO का पूरा मतलब है Search Engine Optimization| सीधे शब्दों में कहें तो SEO एक प्रैक्टिस है, जिसको सभी ब्लॉगर और वेबसाइट चलाने वाले लोग करते है| जिससे उनकी वेबसाइट सर्च इंजन में रैंक होने के लिए अनकूल बन सकें| वहीँ उनके लिखे आर्टिकल और सर्विस सर्च करने पर सबसे पहले दिखे| SEO का फायदा तभी पता चलता है, जब आपके लिखे लेख गूगल या किसी भी सर्च इंजन में सर्च करने पर सबसे पहले दिखने लगे. इस पोस्ट में हम बात करेंगे की SEO क्या है? (What is SEO?) और बात करेंगे Of Page SEO और On Page SEO के बारे में….

बात करें Google की Algorithm के बारे में, तो यह Google पर सर्च करने वाले यूज़र द्वारा सर्च किये गए की-वर्ड से मिलने वाले सबसे बेहतर परिणाम को यूज़र को दिखाने का काम करता है| सालों से Google की Algorithm को समझना मुश्किल रहा है| लेकिन फ़िलहाल लोगों के अनुभव से पता चलता है, कि अगर अगर हम छोटी छोटी बातों पर ध्यान दें तो इसे समझना उतना कठिन नहीं है. Google की Algorithm किसी रिजल्ट पर पहुँचने से पहले On Page SEO और Of Page SEO को चेक करती है.

यह भी पढ़ें: Search Engine (सर्च इंजन) कैसे काम करता है? Google | Yahoo | Bing | Baidu

 

what is seo? seo kya hai? on page seo kya hota hai? what is on page seo?

On-Page SEO

On-Page SEO में वह सभी चीजें शामिल हैं जो आपकी वेबसाइट पर प्रभाव डालती हैं. जैसे की सभी टेक्निकल पहलु जो आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन की रैंकिंग पर प्रभाव (Influence) डालती हैं. जिसमे शामिल है, आपकी वेबसाइट की संरचना (Structure), साईट की लोडिंग स्पीड और वेबसाइट पर पड़ी हुई सामग्री (Content) जो रैंकिंग में अहम भूमिका निभाते हैं. On-page SEO के बारे में और पढ़ें…

यह भी पढ़ें: What is On-Page SEO? | SEO 2018 Hindi

what is seo? seo kya hai? on page seo kya hota hai? what is off page seo?

Off-Page SEO

SEO का अगला पहलु है off-page SEO, जो SEO की दुनिया में थोडा मुस्किल कहा जाता है. Off-Page SEO के बारे में सीधे शब्दों में कहें तो ये आपकी वेबसाइट के लिंक है जो दूसरी हाई अथॉरिटी वेबसाइट पर रिफरेन्स की तरह पड़ी हैं. जितनी Quality वाली वेबसाइट पर आपके लिंक होंगे उतनी ही अच्छी आपकी वेबसाइट की सर्च इंजन पर रैंकिंग होगी.

वहीँ जो अगला Off-page SEO का फैक्टर है, वो है Niche या फिर कम्पटीशन जो दूसरी वेबसाइट पर पड़े कंटेंट से है. तो इसका मतलब है जितना कम कम्पटीशन वाला आपका niche होगा उतना ही अच्छा अवसर होगा अच्छी रैंक पाने का.

यह भी पढ़ें: SEO Tactics & Rules: White Hat SEO & Black Hat SEO

Final Words

गूगल हो या फिर कोई और सर्च इंजन सभी चाहते हैं की उनके यूजर को सबसे बेस्ट रिजल्ट दिखे| जिसका मतलब है जितना अच्छा कंटेंट उतनी अच्छी रैंकिंग होगी. अच्छी रैंकिंग के लिए आपको अच्छी टेक्निकल उत्कृष्टता (Excellence), अच्छा यूजर एक्सपीरियंस, टाइट वेबसाइट सिक्यूरिटी और शानदार कंटेंट की जरुरत पड़ेगी.

दोस्तों उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आई होगी ऐसी अपडेट के लिए आप हमे YouTube पर सब्सक्राइब करें. आप हमे Facebook और Twitter पर भी फॉलो करें.